चाण्क्य नीति : अधिक कार्य पढ़ने पर कष्ट अथवा मित्रों कि संकट के समय परीक्षा होती हे।

@storyfoul

चाण्क्य नीति  बीमार होने पर सगे सम्बन्धियों तथा धन हिन होने पर स्त्री कि परीक्षा होती हे।

@storyfoul

चाण्क्य के अनुसार मनुष्य पर कष्ट आने पर या बीमारी द्वारा अकाल पढ़ने पर होता हे।

@storyfoul

अर्थात विकट परिस्थिति आने पर हि अपना  और पराया कौन हे ये पता चलता हे।

@storyfoul

निश्चित एवं सांध्य कर्मो को छोडकर अनिश्चित एवं असाध्य कर्मो कि और भागने वाला कभी सफल नहीं हो सकता।

@storyfoul

ऐसी स्थिति मे मनुष्य विछिप्त हो जाता और कोई भी कार्य सही से नहीं कर पता इसीलिए मनुष्य को हमेशा सही रास्ते पर चलना चाहिए।

@storyfoul

कुलीन स्त्री चाहे कुरुप हि क्यूँ ना हो परन्तु वो बुद्धिमान और विद्वान् व्यक्ति के लिए श्रेष्ठ होता हे।

@storyfoul

कैसी लगी आप सभी को ये महान आचार्य चाण्क्य कि नीति अगर आपको ऐसी और भी पढ़नी हे तो नीचे लिंक पर जाकर teligram jion करे।

@storyfoul