How to set a goal जो भी अपना लक्ष्य बनाओ फिर उसको पूरा करके हि रुको।

How to set a goal in 2022

आप लॉगो को तो पता हि होगा कि नया साल आ गया तो इसी बात पर आपको बहूत बहुत happy new year कि हार्दिक शुभ कामनाये। अब नया साल तो स्टार्ट तो हो हि गया तो इस नए साल मे आप लॉगो को कुछ नया सीखने वाले । आज हम आपको सीखिए गे कि अपने गो goal को set कैसे करें यानि how to set a goal in 2022 ||

आज मे आपको बताने वाला हूँ कि how to set a goal in hindi क्या होता हे। और अपने लक्ष्य को कैसे हासिल करें मे आप लोगों को एक motivational story के माध्य्म से बताऊंगा कि अपने goal को set कैसे करें तो चलिए अपने इस कहानी को start करते हे।

पहले मे आप लॉगो को ये बता दूँ कि आपको अपने ऊपर believe होना जरूरी हे। अगर आपको अपने ऊपर विश्वास होगा तो आप कुछ भी कर सकते हो। तो goal से पहले believe होना जरूरी हे। अगर आपको अपने ऊपर विसवास हि नहीं हे तो अपने लक्ष्य को पूरा कैसे करेंगे। तो सबसे पहले believe in your self पहले खुद पर भरोसा करना सीखे। फिर अपने goal पर focus करें और अगर आपको believe in your self को पूरी तरीके समझना हे तो इस पर क्लिक करें और जाकर पढ़े।

How to set a goal

2 दुश्मन राज्य और राजा कि।

पुराने समय मे 2 राज्य थे जिनमें कुछ अच्छी बोलचाल नहीं थी उनमे हमेशा लड़ाई होती रहती थी और उन दोनों के राज्य के बीच एक सीमा थी जो उन दोनों राज्य को बाट रखी थी उन दोनों राज्य मे एक राज ज्यादा ताकतवर था और एक कम जो राज्य ताकतवर था उनके पास सैनी बल काफी ज्यादा था और जो राज्य कमज़ोर होता हे उसके पास सैनिक बल भी कम होता हे और हतियार भी फिर एक दिन क्या होता कि जो कमज़ोर राज्य होता हे उसका एक गुप्तचर आता हे और बोलता हे मुझे पता चला हे कि जो आपका दुश्मन राज्य हे वो आप पर आक्रमण करने वाला हे। आप लोग तैयार हो जाय तभी जो उनका सैनिक का मंत्री होता हे वो बोलता हे ठीक हे तुम बताओ कब आक्रमण होना वाला हे। कैसा लगा ये How to set a goal in hindi  का मतलब कुछ समझ मे आया आगे बड़े।

 

तो वो बोलता हे 3 दिन बाद तैयार हो जाओ क्योकि वो हम से ज्यादा ताकतवर ऱज्य् हे।
तो वो मंत्री बोलता हे क्यूँ ना हम महाराज आज हि आक्रमण कर दे शायद जीत हि जाय तो फिर जो वाह का राजा होता वो बोलता हे कि वो राज्य हमसे ज्यादा ताकतवर हे और हम उनसे कभी नहीं जीत पाएंगे फिर वो मंत्री बोलता हे। वैसे भी हमें मरना तो हि हे चाहे वो आक्रमण करें चाहे हम शायद आज हि हम आक्रमण कर दे तो दुश्मन राज्य के लोग और वाह जी सैनिक तैयार नहीं होंगे शायद हम जीत हि जये ।  और फिर सभी लोग आक्रमण के लिए तैयार हो जाते हे और निकल पड़ते हे। तो कहते हे जिस रास्ते से दूसरे राज्य मे जाया जाता था उस रास्ते मे एक नदी पड़ती थी और उस नदी को पार करने के लिए एक पुल था

और उस पुल को पार करके जाना पड़ता था और सभी लोग उस पुल को पार करके निकल जाते हे। जैसे हि सभी लोग पुल को पार् करके आगे आते हे वोसे हि जो वाहा का मंत्री होता हे वो उस पुल मे भी आग लगा देता हे जैसे हि वो पुल मे आग लगता हे तो सभी सैनिक पूछ्ते हे कि मंत्री जी ये आपने क्या किया तो मंत्री बोलता हे कि मैंने तुम्हरे लिए वापस जाने रास्ता भी नहीं छोड़ा अब तुम वापस भी नहीं जा सकते करो या मारो (do and die }  और तुक्का देखिए कि आक्रमण करते हे और जीत जाते हे। और उस समय उनका क्या goal था कि उन्हें अभी आक्रमण करना हे और दाव पर सब कुछ लग गया।

इस कहानी से शिक्षा। = इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती हे कि जब आप अपना कोई लक्ष्य बनाओ तो उसे पाने के लिया कुछ भी कर जाओ । और सबसे ज्यादा जरूरी हे अपने ऊपर भरोसा होना क्योकि जब सभी परिस्थितिया आपके खिलाफ हो। तब आपको अपने ऊपर भरोसा होना बहुत जरूरी हे।

How to set a goal

2nd story india aur ( how to set a goal ) Pakistan ka football match

एक बार इंडिया और पाकिस्तान का फुटबॉल मैच लगा और तब इंडिया टीम की जो टीम होती है जो उनका कोच होता है वह अपनी टीम को मोटिवेट कर रहा होता है उनको मोटिवेशनल बातों से मोटिवेट कर रहा था उनसे बोलता है कि जाना और उनसे पाकिस्तानियों से तो खास करके हारना मत जिस जिस को बोल लगे।

बोल इतनी तेजी से मारना कि जिस जिस को बोल लगे छैदते भैय चली जाए साला जीस को बोल लगे गडा  करके निकल जाए इतनी तेजी से बोल जानी चाहिए और जो इंडिया टीम का कोच होता है वह पूरी टीम को भर भर के मोटिवेट करता है और ऐसी ऐसी बातें बोलता है जिससे टीम को लगता है कि आज तो जीरो 100 से जीत जाएंगे साला अपने 100 goal करेंगे और उन्हें 0 से हारेंगे। ऐसा मारेंगे जिस को मारेंगे बोल छेदते भैय  निकल जाएगी।

और उधर पाकिस्तान की टीम का भी जो कोच होता हे। और वो भी अपनी टीम को मोटिवेट कर रहा था यही बातें बोलता है साला सबसे हार जा लेकिन हिंदुस्तानियों से नहीं हारना जिस जिस को बोल मरना फाड़ते हुए निकल जाए और सर पर मरना तो सर फट जाए नाक में मारो तो नाक फट जाए ऐसा मारना सिर्फ पिच पर खून  दिखाई दे। how to set a goal

और दोनों लोग अपनी अपनी टीम को भर भर के मोटिवेट करा उधर इंडिया वाले और उधर पाकिस्तान वाले दोनों ही अपनी टीम को बहुत ज्यादा मोटिवेट करते हैं और ऐसी ऐसी बातें बोलते हो उनको तो लगता है कि आज साला 0 और 100 से जीत जाएंगे अपने 100 उनके जीरो फिर उसके बाद दोनों की टीम खेलने जाती है 90 मिनट के मैच के बाद जब वापस आती है तो देखते हैं किसी का कोई भी स्कोर नहीं दोनों का स्कोर 0-0 और जब दोनों टीमों के कोच देखते हे कि दोनों टीमों का स्कोर जीरो जीरो तो फिर बोलते हे कि  चलें देखें इसमें क्या  लोचा है जब जाकर देखते हैं तो देखते हैं जो ग्राउंड होता है उसमें goalposh ही नहीं है गोल पोस्ट नहीं है तो गोल करे कहां। खाली खेलते रहे 90 मिनट के खेल से कोई फायदा नहीं होता है असल जिंदगी में आपका कोई गोल नहीं होता है तो आप अपने जीवन में सिर्फ खेलते ही रहते हैं चलते ही रहते हैं कहीं आपका कोई goal नहीं कहीं गोल नहीं तो सीधा-सीधा चलते रहो जीवन में गोल बनाना बहुत जरूरी है।

 

अगर जीवन मे गोल नहीं होगा तो आप को भी चाहे कितना कोई भी मोटीवेट कर ले या जीतना भी मोटीवेट कर ले कोई फायदा नहीं होता हे तो जीवन मे goal होना बहुत जरूरी हे। तो जीवन मे अपना goal बनाओ और believe रखो यानि विसवास। और happy new year

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here