Best 2 moral stories in hindi || अकबर और बीरबल || वफादार बन्दर। कि कहानी।

Best 2 moral stories in hindi || अकबर और बीरबल || वफादार बन्दर। कि कहानी।

आज मैं आप लोगों को जो कहानी बताने वाला हूं वह और भी ज्यादा मजेदार होने वाले क्योंकि moral stories in hindi इस कहानी में आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा इस कहानी को पूरा लास्ट तक पढ़ने और लास्ट में एक कमेंट जरूर कर दे कि आपको कौन सा पाठ अच्छा लगा ये moral stories in hindi

moral stories in hindi
moral stories in hindi

Top 2 best moral stories in hindi हिंदी मे 2 बेस्ट मोरल कहानियाँ। जरूर पड़े।

2,story moral stories in hindi एक परेशान आदमी और वफादार बन्दर कि कहानी।

एक आदमी होता है वह हमेशा परेशान रहता है और परेशान होने। के साथ-साथ वे अपने अगल-बगल के और अपने दोस्त यारों के आदमियों से ऊब चुका होता है उनसे मिलने का उसका मन ही नहीं करता है वह सोचता है मैं ऐसा कौन सा वफादार जानवर या इंसान रखो जिस पर मैं भरोसा कर सकूं अब वह एक बार घूमने जाता है वहां पर उसे एक बंदर दिखता है moral stories in हिंदी  अब वह बंदर को देखकर सोचता है इसके पास तो बुद्धि नहीं होती अगर मैं इसे अपना वफादार  रख लूंगा और मैं इसे जैसा सिखाऊंगा यह वैसा ही करेगा उस बंदर को ले आता है अपने घर और बन्दर को अपने घर रखने लगता है खाना खिलाता है पालता पूछता हे।moral stories in hindi

वह बंदर को ले आता है और उसे अच्छे से पालता पूछता है सिखाता है कई दिन लग जाते या कई महीने लग जाए तो उसको सिखाने में खिलाने में जब मैं सब कुछ सीख जाता है तो उसके उसके साथ घुल मिल जाता है उसके साथ खेलता है बैठता है सोता है वह भी यह देखकर बहुत खुश था कि मेरे साथ बंदर घुल मिल गया और यह अभी तक कोई भी बेवकूफी नहीं किया इसलिए अब एक बार वह सो रहा होता है hindi moral fo story अब अंदर उसकी सर पर बैठा था मतलब उसके बेड पर बैठा होता है अब वहां पर धीरे-धीरे एक मक्खी आ जाती है उसके आदमी के अगल-बगल बनाने लगती है अगल-बगल देखकर यह बहुत ज्यादा गुस्से में आ जाता है यह मक्खी मेरे मालिक को कहीं नींद से जगा ना दे यह देखकर बंदर गुस्से मे उस मक्की को मरने लगता हे लेकिन मक्की को भागने मे सफल नहीं होता हे।  भगाने की।moral stories in hindi

बंदर मक्खी को देखकर बहुत ज्यादा गुस्से में आ जाता है और वह मक्खी को मारने लगता है लेकिन मक्खी तो अगल-बगल नाच ही रही थी वह उसे मार नहीं पाता और जब बंदर काफी देर कोशिश करता है उसके बाद भी वह मक्खी को मारने में असफल रहता है और वह इससे और भी ज्यादा गुस्से में आ जाता था अब मक्खी भी बनाते बनाते उसकी जाकर गर्दन पर बैठ जाती वह जो आदमी होता उसकी गर्दन पर बैठ जाती हे। moral stories in hindi

अब बंदर सोचता है कि मक्खी अब इसके गर्दन पर बैठी गई है तो अब मैं से आसानी से मार सकता हूं लेकिन वह सोचता है कि अगर मैं इसे हाथ से मारूंगा तो मालिक उठ जाएंगे उनकी नींद टूट जाएगी तो बगल में उसके हंसीआ रखी होती है अब वो बन्दर हँसये को उठाता है और मक्खी को गर्दन पर मार देता है अब आप ही सोच सकता उसके बाद क्या हुआ होगा मक्खी के साथ-साथ उस आदमी का भी राम-राम सत्य  हो जाता है moral stories in hindi

इस कहानी से शिक्षा हमें इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि किसी से भी इतना लगाओ ना करें क्योंकि लगाओ आपका अगर ज्यादा हो जाएगा या कम हो जाएगा तो अगर कम होगा तो सामने वाले को नुकसान पहुंचेगा अगर ज्यादा होगा तो आपको तो इस बजे लगाओ किसी से ज्यादा मत रखिए दूरी बनाकर ही रखे हमेशा यही आपके लिए सफलता की चाबी है।

2nd moral stories in hindi ( akbar aur birbal ka rochak kissa)

 

 MORAL STORIES IN HINDI
          MORAL STORIES IN HINDI

यह कहानी होने वाली अकबर और बीरबल की एक बार अकबर के दरबार में सभा लगी होती है तो अकबर बीरबल से बोलते हैं राज्य में चोरी बहुत हो रही है रोज नए नए चोरी के मामले सामने आ रहे हैं आप बताओ बीरबल क्या करें तो बीरबल सोचते हमें आप कल तक का समय दीजिए अब कल तक का समय तो ले लेते अगले दिन फिर से अगले दिन पूरे गांव वाले सभा में आ जाते कि अभी तो एक ही 2 चोरियां हुई थी अभी तो 10 से 12 चोरियां हो गई है अब आप ही बताइए क्या करें तो तो अकबर बोलते हैं कि आप बताओ बीरबल क्या करें मैंने तुमसे कल ही कहा था कि इन चोरियों का कुछ तो समाधान निकालो वरना ऐसे तो राज्य में धन ही नहीं बचेगा क्योंकि सबसे ज्यादा धन कि ही चोरी हो रही है और अनाज की अब बताओ क्या करें तो बीरबल बोलते हैं आप मुझे कल तक का समय दीजिए कल तक मैं आपको चोर आपके सामने लाकर खड़ा कर दूंगा बोलते ठीक है अकबर बोलते ठीक है अगर कल तुमने चोर लाकर नहीं दिया तो

अब अगले दिन बीरबल एक राज्य के मंत्री को भेजते हैं और उससे कहते हैं जाकर पूरे राज्य में कह दो कि अभी एक सभा लगने वाली है और वहां पर सभी लोग हाजिर होंगे और उसके बाहर एक छड़ी रखी हुई है उस छड़ी को छू कर आना है और वह छड़ी जादुई है जो भी चोर उसको छू लेगा और  जिसने भी चोरी की होगी उसको वह छड़ी अपने आप मारने लगेगी अब यह बात सभी राज्य वाले सुनकर डर जाते हैं कि अगर मैंने चोरी नहीं की है मुझे मारने लगी तो मैं फालतू का ही फंस जाऊंगा सभी लोग जाते हैं वहां पर राज्य में सभी लोग जाते हैं और एक-एक करके बीरबल लाइन लगवा देता कहता है सब एक-एक करके सभी लो इस छाडी को छूकर अंदर आएंगे आप जो चोर नहीं होते हैं वह बिना भय के छड़ी को छू छू कर चले जाते अंदर! moral stories in hindi

और वहां पर सभी लोग लाइन से छू छू कर चले जाते और अंदर जाकर सभी लोग लाइन से आ जाते हैं अब सब लोग सोचते हैं यहां तो किसी को भी उस छढी ने मारा हि नहीं

यहां तो किसी को भी उस छढी ने मारा ही नहीं यानी यहां पर कोई भी चोर नहीं है अब बीरबल बोलता है सभी लोग लाइन से खड़े हो जाओ मैं सभी लोगों के पास आऊंगा और फिर चोर का पता लगा लूंगा आप सभी लोग डर जाते हैं कि वह किसी के ऊपर भी उंगली रख देगा तो समझ लो सजा हो जाएगी अकबर मृत्युदंड दे देंगे अब वह सभी लोगों के पास जाता है एक-एक करके जो चोर नहीं होते उनको डर नहीं होता तो फिर वो जाता सभी को सूंघता है और एक आदमी को उसने पकड़ लेता कहता यह चोर है। अब आप यह सोच रहे होंगे कि किसी को भी उस छड़ी ने मारा तो नहीं फिर इसने चोर कैसे पता कर लिया अब मैं आपको इसमें कुछ बताता हूं उस छड़ी में लगा होता है इत्र और जो जो उस छढी को छू कर आता है उसमें इत्र की खुशबू आ जाती है उसके हाथ से इत्र कि खुश्बू आने लगती हे। खुशबू आई लगती और बीरबल सभी के जाकर हाथ को सूंघता  है और जो चोर होता है वह उस छड़ी को छूता ही नहीं तो उसके हाथ से वह खुशबू भी नहीं आती है। और बीरबल इससे चोर का पता लगा लेता हे।moral stories in hindi

 

इस moral stories in हिंदी से हमें क्या शिक्षा मिलती हे।

कि हम किसी भी परेशानी या समस्या को खुद से इतनी बड़ी बना लेते हे। जबकि वी असल मे  इतनी बड़ी नहीं होती। बस थोड़ा सा शान्त होकर और दिमाग से सोचये अब बड़ी बड़ी समस्या का हल निकल सकते हे।

1 thought on “Best 2 moral stories in hindi || अकबर और बीरबल || वफादार बन्दर। कि कहानी।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *