मोनी चुड़ैल एक खौफनाक घटना जो इसे देख लेता हे ।।भूत प्रेत की कहानी

मोनी चुड़ैल एक खौफनाक घटना जो इसे देख लेता हे वो बचता नहीं हे।।भूत प्रेत की कहानी।

भत प्रेत की कहानी

भूत की कहानी: हिंदी में मोनी चुड़ैल एक ऐसी खतरनाक चुड़ैल जिसका कोई तोड़ नहीं है अगर वह आपके पीछे पड़ जाए तो आपकी जान लेकर ही मानेंगे यह ऐसी शैतान होती है जो आमतौर पर जगह-जगह पर पाई जाती है और यह आपके कब पीछे आगे आज आपको पता भी नहीं चलेगा भूत की कहानी

 

 आगे कि कहानी भूत कि : जगह जगह पर पाए जाते हैं और जब आपके पास आज आ जते हे तो। आपको पता भी नहीं चलेगा इससे बचने के भी कई उपाय हैं भूत प्रेत की कहानी आपको मैं इस आर्टिकल के आखिरी में बताऊंगा इससे बचने के उपाय और मैं यह मोनी की कहानी रियल है यह कहानी स्टार्ट करता हूँ। भूत की कहानी

  

 भूत वाली कहानी भूत वाली:  यह कहानी तकरीबन 40 साल पहले से स्टार्ट करूंगा तमिलनाडु के एक छोटे से गांव में दो भाई रहते थे और जिसमें से छोटा वाला भाई मूर्तियां बना कर अपना घर का खर्च हुआ गुजर बसर किया करता था बड़े वाले भाई का खेत था वहां पर खेती करता था जिसमें छोटा वाला भाई मूर्तियों से बेचकर जो पैसा कमाता था उससे उसके परिवार का खर्च चलता था और वह जो मूर्ति बनाता था उसके लिए जो मिट्टी लाता था मिट्टी जो थी वह छोटे वाले भाई के खेत से लेता था जब अपनी मूर्तियां वह बेचता था उससे जो कमाई होती थी वह आपस में दोनों भाई आदि आदि आपस मे  बाट लेते थे। भूत की कहानी

 एक दिन अचानक उसके मोतियों वाले धंधे में काफी मंदी आ जाने के कारण उसका घर का खर्च चलना बंद हो जाता है उसके पास बिल्कुल भी पैसे नहीं होते हैं खाना लाने के लिए वह 1 दिन सोचता है कि मैं यहां से बाहर जाकर पैसे कमा लूंगा भूत की कहानी और वहां से अपने घर पर भी पैसे भेजा करूंगा जिससे मेरी घर की काफी परेशानी दूर हो जाएगी  और मैं काफी अच्छा वहां पर धंधा स्टार्ट कर सकूंगा निकल पड़ता है बाहर तकरीबन गांव से 40 किलोमीटर दूर निकल जाता है एक दूर् शहर में वहां पर अपना मूर्तियों का कारोबार चालू कर देता है एक दिन अचानक वहां पर एक आदमी आता है वह उसे बोलता है तुम्हें मेरा एक काम करना पड़ेगा मैं तुम्हें एक मूर्ति बनाने का ऑर्डर देता हूं और तुमने यह मूर्ति बना दी तो मैं तुम्हें मुंह मांगी रकम दूंगा तुम जितना पैसा बोलोगे मैं उतना दूंगा वह आदमी यह सुनकर भूत की कहानियां इन हिंदी 

 वह आदमी यह सुनकर बहुत प्रसन्न हो जाता है बोलता है बताओ कैसी मूर्ति बनानी है तुम जैसी कहोगे मैं  बनाऊंगा आदमी एक शर्त और  रखता है भूतो की कहानियाँ  बोलता है मेरी एक शर्त है मैं जैसी बोलूंगा तुम्हें मेरी सोच को मूर्तियों में उतारना होगा और जैसा मैं बोलूं वैसे ही हूं बहू मूर्ति बनानी होगी अगर तुमने मेरा काम कर दिया तो मैं तुम्हें मुंह मांगी रकम दूंगा  वह आदमी यह सुनकर बहुत ही अचंभित रह जाता कहता है मैं ऐसी मूर्ति कैसे बना सकता हूं लेकिन एक तरफ वह मुंह मांगी रकम देने को तैयार था इस वजह आदमी तैयार हो जाता है कहता हे   ठीक है बना लूंगा लेकिन तुरंत ही वह एक और शर्ते रख देता है कहता है मुझे यह मूर्ति सिर्फ 2 दिन में चाहिए अगर तुम बना सको तो बोलो लेकिन आदमी कहता है ठीक है मैं मना लूंगा क्योंकि वह मुंह मांगी रकम देने को तैयार था तो आदमी बोलता ठीक है मैं बना लूंगा।भूत की कहानी 

भूत वाली हिंदी कहानी

जिससे उसके घर की काफी परेशानी दूर हो सके इसलिए वह मूर्ति बनाने के लिए तैयार हो जाता है लेकिन मूर्ति जिस मिट्टी से बनाने की वह मिट्टी तो उसके भाई के खेत में मिलती थी और उसके करीब करीब 2 किलोमीटर की दूरी पर था वहां से और वह मिट्टी भी खत्म हो गई थी। इसलिए वह निकल पड़ता है मिट्टी लेने के लिए और जब मिट्टी लेने के लिए जा रहा होता है तो वह अपनी बीवी के पास जाता है अपनी बीवी से कहता है मैं अपने भाई के खेत में मिट्टी लेने जा रहा हूं और उस समय अमावस्या की काली अंधेरी रात होती है और उनके घर में यह मान्यता थी भूत वाली कहानियां हिंदी में कि वहां पर अमावस्या की रात को नहीं निकला कर  जाता है  कि उनके पुराने समय में किसी पूर्वज् के साथ एक हादसा हो चुका था जिस वजह से अमावस्या की रात को काम नहीं किया जाता था लेकिन उसको तो मूर्ति बनाने की आर्डर मिला था और उसके पास बहुत कम समय और 2 दिन का ही टाइम दिया गया था जिस वजह से वह अपनी बीवी को कहता है कि मुझे जाना ही होगा और वहां से मिट्टी लानी होगी क्योंकि मुझे अपने घर की परेशानी और मिट्टी लाकर मैं मूर्ति भी बनाना चाहता हूं इसीलिए मैं मिट्टी लेने जा रहा हूं काफी जिद करने के बाद उसकी बीवी मान जाती है कि ठीक है लेकिन आप साइकिल ले लीजिए और जल्द से जल्द चले आइए पहले निकल पड़ता है साइकिल लेकर मिट्टी लेने और धीरे धीरे धीरे धीरे दो ढाई घंटे के बाद वहां पर पहुंची जाता है और मिट्टी भरने लगता है जिससे हवा चलती है और उसके भाई का घर दरवाजा  खुल जाता है तो भाई के घर से उसकी बीवी निकलती है बोलती है अरे देवर जी आप यह बताइए आप यहां कैसे आय  वह बोलता है मैं मूर्ति बनाने के लिए मिट्टी लेने आया हूं कैसे ठीक है आप मिट्टी लीजिए और मैंने स्वादिष्ट चिकन बनाया हुआ है आप  मैं आपको टिफिन में पैक कर देती हूं आप इसे घर ले जाइए क्योंकि आपके लड़के को भी चिकन बहुत पसंद है तो वह हंसकर बोलता है ठीक है आप इसको दे दीजिए टिफिन पैक करके मैं ले जाता हूं। kahaniya bhooto ki

और वे टिफिन में चिकन पैक कराने के बाद निकल पड़ता है साइकिल में पीछे टिफिन रखता है फिर उसके ऊपर मिट्टी रखता है उसको कस के बाद लेता है और बांधकर निकाल लेता हूं करीबकरीब 400 मीटर का रास्ता ही उसने तय किया होता है कि उसके बाद उसकी साइकिल की टायर पंचर हो जाती है और वह अपने पंचर टायर को देखकर बहुत डर जाता है क्योंकि करीब रात के 2:30 बज रहे होते और अमावस्या काली अंधेरी रात भी थी  कोई भी होता तो डर जता  में होता डर जाता है जिसे देख कर डर जाता है और चारों तरफ सन्नाटा भीषण काली अंधेरी रात वहां पर कौन नहीं डरने  लगेगा और आगे कि कहानी पढ़ने के लिए इस पर हि क्लिक कर

              Part 2 ke liye click here 

1 thought on “मोनी चुड़ैल एक खौफनाक घटना जो इसे देख लेता हे ।।भूत प्रेत की कहानी”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *